हार्ट फेलियर पर व्याख्यान 3 को

रायपुर में हार्ट फेलियर व्याख्यान 3 जून को होगा। इसका आयोजन कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ छत्तीसगढ़ करेगी। इसमें हृदय रोग पर व्याख्यान, नए शोध औॅर नई दवाओं के बारे में चर्चा की जाएगी । कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री अजय चन्द्राकर, महापौर प्रमोद दुबे, डॉ. एसआर गुप्ता और पद्मश्री डॉ. एटी दाबके मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम को डॉ. पीसी मनोरिया संबोधित करेंगे। यह जानकारी रायपुर प्रेस क्लब में डॉ. आशीष मल्होत्रा और डॉ. सतीश सूर्यवंशी ने दी।

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो नक्सली गिरफ्तार, एक नक्सली पर था लाखों का इनाम, कई बड़ी वारदातों को दे चुके हैं अंजाम

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो नक्सली गिरफ्तार, एक नक्सली पर था लाखों का इनाम, कई बड़ी वारदातों को दे चुके हैं अंजाम

पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने दो अलग-अलग जगहों से दो नक्सली को गिरफ्तार किया है. जिसमें एक तीन लाख का इनामी नक्सली भी शामिल है. जिसे कोंडागांव पुलिस ने दबिश देकर गिरफ्तार किया है. वहीं बीजापुर से भी 5 सहायक आरक्षक की हत्या और आगजनी के आरोपी नक्सली को डीआरजी और कुटरु पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर गिरफ्तार किया है.

कांग्रेस के बाद अब बीजेपी ने जारी की कार्टून फिल्म ‘भूपु की ट्वीट खोज’, पीसीसी चीफ भूपेश बघेल पर किया जमकर हमला

कांग्रेस के बाद अब बीजेपी ने जारी की कार्टून फिल्म ‘भूपु की ट्वीट खोज’, पीसीसी चीफ भूपेश बघेल पर किया जमकर हमला

बीजेपी ने पीसीसी चीफ भूपेश बघेल पर व्यंग्यगात्मक वीडियो जारी किया है. वीडियो में बघेल के किरदार पर जमकर चुटकी ली गई है. दरअसल बीजेपी ने इस वीडियो के जरिए भूपेश बघेल द्वारा रोजाना रमन सरकार पर टारगेट करते हुए किए जा रहे ट्वीट को लेकर व्यंग्य कसा है. वीडियो में भूपेश बघेल को ट्वीट वाले बाबा करार दिया गया है.

कांग्रेस ने अपने शासन में कुछ काम तो किया नहीं, अब विकास का विरोध कर रहे हैं- सीएम रमन सिंह

कांग्रेस ने अपने शासन में कुछ काम तो किया नहीं, अब विकास का विरोध कर रहे हैं- सीएम रमन सिंह

विकास यात्रा के आज के पड़ाव में मुख्यमंत्री रमन सिंह बिलासपुर जिले के मस्तूरी पहुंचे. यहां उन्होंने कहा कि विकास यात्रा के जरिए वे किसानों को 1700 करोड़ का बोनस और 30 हजार करोड़ के विकास कार्यों की सौगात देने निकले हैं. दंतेवाड़ा से शुरू हुए इस सफर में उनका कारवां जहां पहुंच रहा है लोग उनका जोरदार तरीके से स्वागत कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि एक तरफ हम लोगों को सौगात देने निकले हैं और दूसरी तरफ कांग्रेस इसका विरोध कर रही है. अजीब हालत है कांग्रेस की उसे विकास दिखता नहीं, कांग्रेस ने अपने 60-70 साल के कार्यकाल में कुछ किया नहीं और अब विकास का विरोध करती है.

चुनाव प्रबंधन को लेकर कांग्रेस में बैठकों का दौर शुरू, इन नेताओं को सौंपी गई है जिम्मेदारी

चुनाव प्रबंधन को लेकर कांग्रेस में बैठकों का दौर शुरू, इन नेताओं को सौंपी गई है जिम्मेदारी

प्रदेश कांग्रेस की चुनाव प्रबंधन योजना एवं रणनीति की बैठक शुरू हो गई है. 2018 के विधानसभा चुनावों के लिये रणनीति और योजना बनाई जा रही है. बैठक में अनुसूचित जाति/जनजाति, ग्रामीण और शहरी विधानसभा क्षेत्र के लिये अलग अलग कार्य योजना बनायी जा रही है. कांग्रेस के सभी प्रकोष्ठों – विभागो के लिये टास्क और मानिटरींग की व्यवस्था तय की जा रही है. संकल्प यात्रा सहित सभा सम्मेलन के लिए समयबद्ध कार्यक्रम बनाने के साथ-साथ वरिष्ठ नेताओं, वक्ताओं का चिन्हाकंन एवं प्रभार की जिम्मेदारी तय की जायेगी.

भारी संख्या में लोन लेने बैंक पहुंचे कांग्रेसी, लेकिन बैंक में घुसने के पहले ही पुलिस ने उन्हें रोका, क्योकि…

भारी संख्या में लोन लेने बैंक पहुंचे कांग्रेसी, लेकिन बैंक में घुसने के पहले ही पुलिस ने उन्हें रोका, क्योकि…

पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों का विरोध में आज राजधानी रायपुर में कांग्रेस द्वारा अनोखा प्रदर्शन किया गया. इस दौरान भरी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता बूढ़ापारा स्थित यूनाइटेड बैंक में पेट्रोल के लिए लोन लेने पहुंचे. लेकिन पुलिस ने इन कार्यकार्ता को बैंक के बाहर ही रोक दिया.

प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों का कहना है कि पेट्रोल-डीजल की लगातार मूल्य वृद्धि हो रही है. जिससे छोटे-छोटे व्यापारियों को बहुत परेशानी हो रही है. कांग्रेसियों ने कहा कि लागों ने लोन पर गाड़ी तो ले लिया है, लेकिन पेट्रोल के दाम बढ़ने से पेट्रोल भरवाने के लिए उनके पास पैसे नहीं है, इसलिए अब पेट्रोल के लिए बैंक लोन दें.

पुलिस ने नर्सों को धरना स्थल पहुंचने से पहले ही किया गिरफ्तार, मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

पुलिस ने नर्सों को धरना स्थल पहुंचने से पहले ही किया गिरफ्तार, मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

राजधानी रायपुर में नर्स अपनी 9 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना दे रही है. लेकिन आज सैकड़ों नर्सों का धरना स्थल पहुंचने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है. एसडीएम की मौजूदगी में इन्हें गिरफ्तार किया गया है. इस दौरान धरना स्थल पर भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात है.

नर्स यूनियन अध्यक्ष देवश्री ने बताया कि जिस जगह पर हम रुके हुए थे. पुलिस वहां सुबह से ही पहुंच चुकी थी. उठते ही किसी को भी संभलने या तैयार होने नहीं दिया गया. पुलिस ने जबरन सभी को गिरफ्तार कर लिया है.

थाने बुलाने के बाद दो बच्चों का पुलिस ने किया रिहा, दो को भेज ​दिया जेल और एक से अभी कर रही है पूछताछ. ग्रामीणों ने जताया विरोध…

थाने बुलाने के बाद दो बच्चों का पुलिस ने किया रिहा, दो को भेज ​दिया जेल और एक से अभी कर रही है पूछताछ. ग्रामीणों ने जताया विरोध…

एक बार​ फिर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई का ग्रामीणों ने जमकर विरोध किया है. ग्रामीणों का आरोप है कि पढ़ने वाले बच्चों को पुलिस नक्सली बता रही है. पुलिस ने पहले 5 बच्चों को पूछताछ के लिए थाने बुलाया, जिसमें से 2 बच्चों को पूछताछ के बाद रिहा कर दिया गया, 1 को पूछताछ के बाद रोक लिया गया और 2 को जेल भेज दिया गया. ग्रामीणों ने पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध किया है.

बौखलाए नक्सलियों ने किया आईडी ब्लास्ट, चपेट में आने से एक जवान हुआ घायल…

बौखलाए नक्सलियों ने किया आईडी ब्लास्ट, चपेट में आने से एक जवान हुआ घायल…

एक बार फिर बौखलाएं नक्सलियों की कायराना कारतूत सामने आया है. नक्सलियों ने आईडी ब्लास्ट कर दिया है. जिसमें एक जवान घायल हो गया है. जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उसका इलाज जारी है.

दरअसल पूरा मामला अरणपुर थाना इलाके का बताया जा रहा है. नक्सलियों ने तमनार जगरगुंडा मार्ग के कमलपुष्ठ के पास ये आईडी ब्लास्ट किया है. इस घटना की पुष्टि एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने किया है.

CM डॉक्टर रमन सिंह का महत्वपूर्ण बयान, 5 जून तक हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद शिक्षाकर्मियों के संविलियन पर लिया जाएगा निर्णय

संविलियन की मांग को लेकर सरकार की ओर टकटकी नजर लगाए बैठे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों का इंतजार अब खत्म हो सकता है. मुख्यमंत्री डॉ.

संविलियन की मांग को लेकर सरकार की ओर टकटकी नजर लगाए बैठे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों का इंतजार अब खत्म हो सकता है. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि 5 जून तक हाई-पावर कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद संविलियन पर निर्णय ले लिया जाएगा. जाहिर है जिस तरह से मध्यप्रदेश में शिक्षाकर्मियों का संविलियन कर दिया गया है, इससे साफ है कि छत्तीसगढ़ सरकार भी शिक्षाकर्मियों का संविलियन करने में देरी नहीं करेगी. चुनावी साल में इसे सरकार का सबसे बड़ा दांव माना जा रहा है.