Health

Health News

जशपुर में स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त, 6 बच्चे घायल, 2 की हालत गंभीर

 जशपुर में स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त, 6 बच्चे घायल, 2 की हालत गंभीर

स्कूली बच्चों से भरी बस सोमवार को सड़क से नीचे उतरकर पलट गई। इस हादसे में छह बच्चे घायल हो गए। इनमें से दो की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। बस कांसाबेल स्थित सेंट जोसेफ इंग्लिश स्कूल की बताई जा रही है। बस सुबह बच्चों को लेकर स्कूल रवाना हो रही थी। इसी बीच दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे की खबर मिलते ही स्थानीय लोगों ने तुरंत बच्चों को अस्पताल पहुंचाया। बच्चों का इलाज कांसाबेल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। बस की रफ्तार काफी ज्यादा थी। अचानक ब्रेक लगने के बाद बस अनियंत्रित होकर पलट गई।

डॉक्टर्स की कमी को लेकर स्वास्थ्य संचालक से मिले श्रमिक मंच के लोग

डॉक्टर्स की कमी को लेकर स्वास्थ्य संचालक से मिले श्रमिक मंच के लोग

बीएसपी की ओर से संचालित सेक्टर-9 अस्पताल में इस्पात श्रमिक मंच के प्रतिनिधिमंडल ने बीएसपी के स्वास्थ सेवाएं विभाग के संचालक डॉ केएल ठाकुर से डाक्टरों की नियुक्ति की मांग की है। मंच का कहना है कि सेक्टर-9 अस्पताल में इलाज से संबंधित सभी संसाधन उपलब्ध हैं, लेकिन डॉक्टरों की कमी के चलते संसाधनों का समुचित लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है। ज्यादातर प्रमुख मशीनें तो इसलिए बंद है क्योंकि उसे ऑपरेट करने के लिए डॉक्टर नहीं है। ऐसे में डॉक्टरों की कमी को दूर करने प्रबंधन की प्राथमिकता होनी चाहिए।

जिला चिकित्सालय में झाडू लगाकर दिया स्वच्छता का संदेश

भाजपा शहर मंडल की ओर से जिला चिकित्सालय में राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान के तहत साफ-सफाई अभियान चलाया गया। इस अवसर पर उपस्थित भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा जिलाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोल्डी, मंडल अध्यक्ष संदीप घोष, नगर पालिका अध्यक्ष पवन पटेल ने चिकित्सालय परिसर में झाडू लगाते हुए स्वच्छता का संदेश दिया।

प्रत्येक परिवार को 50 हजार तक स्वास्थ्य बीमा सुविधा

छत्तीसगढ़ राज्य के प्रत्येक परिवार को मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की घोषणा के अनुरूप अब इस वर्ष एक अक्टूबर से हर साल अधिकतम 50 हजार रूपए के स्वास्थ्य बीमा की सुविधा मिलेगी। उनकी घोषणा पर त्वरित अमल करते हुए राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने बीमा कवच की राशि 30 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार रुपए करने का निर्णय लिया है। इस निर्णय पर अमल के लिए राज्य सरकार हर साल 260 करोड़ रुपए खर्च करेगी। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार प्रदेश के प्रत्येक परिवार को 50 हजार रुपए का स्वास्थ्य बीमा कव्हरेज देने के लिए निविदाएं आमंत्रित की गई थी। इसमें चार कंपनियों ने फायनेंशियल बिड में हिस्सा लिया। इनमें से यूनाइटेड इंडि

स्वास्थ्य कर्मियों के भवन में बिजली कनेक्शन देना भूल गया

स्वास्थ्य विभाग की ओर से करोड़ों रुपए खर्च करके मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में स्वास्थ्य कर्मियों के लिए भवन तो बना दिया गया है, मगर बिजली का कनेक्शन देना भूल गया। बिजली व्यवस्था नहीं होने के बाद भी स्वास्थ्य कर्मियों को मकान अलॉट कर देने से लगभग यहां निवासरत स्वास्थ्य कर्मी हुकिंग कर बिजली का अवैध कनेक्शन ले उपयोग कर रहे हैं।

फर्नेस से गिरकर मजदूर हुआ घायल

प्राइम इस्पात कंपनी गुमा उरला कंपनी में बुधवार को काम करने वाला मजदूर फर्नेस से नीचे गिर गया। ऊंचाई से गिरने की वजह से मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गया। उरला पुलिस ने कंपनी के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।
प्राइम इस्पात कंपनी उरला में काम करने वाले मजदूर शोभित महतो ने शिकायत की है कि वह फर्नेस का काम करता है। बुधवार को वह रोज की तरह भट्ठी पर चढ़कर काम कर रहा था। तभी फर्नेस में जबरजस्त ब्लास्ट हुआ। इससे शोभित नीचे गिर गया जिससे वह बुरी तरह से घायल हो गया। उसने कहा कि इस्पात कंपनी में सुरक्षा व्यवस्था पर्याप्त नहीं है। इसी के चलते आए दिन हादसे होते रहते हैं।

अस्पताल में नहीं मिला ऑक्सीजन सिलेंडर, मरीज की मौत

अस्पताल में नहीं मिला ऑक्सीजन सिलेंडर, मरीज की मौत

जहां एक ओर सरकार स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बड़े-बड़े दावे करती है, वहीं हकीकत इससे कोसों दूर है. ताजा मामला है धमतरी जिले के नगरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का, जहां एक युवक ने उचित इलाज नहीं मिलने के कारण दम तोड़ दिया. परिजनों ने अस्पताल पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है.

ऑक्सीजन नहीं होने के कारण मरीज की मौत का आरोप

फिर कंबल वाले बाबा की शरण में पहुंचे प्रदेश के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा

फिर कंबल वाले बाबा की शरण में पहुंचे प्रदेश के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा

आजकल कंबल वाले बाबा सुर्खियों में हैं. बलरामपुर के सनवाल इलाके में स्याही मोड़ पर कंबल वाले बाबा रहते हैं. ये कंबल ओढ़ाकर मरीज का इलाज करते हैं, इसलिए इनका नाम कंबल वाले बाबा पड़ा.

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा आजकल कंबल वाले बाबा के सामने नतमस्तक हैं. यही वजह है कि कंबल वाले बाबा और पैकरा दोनों इन दिनों सुर्खियों में हैं. पैकरा के अंधविश्वास का इतना विरोध होने के बावजूद उनकी श्रद्धा कंबल वाले बाबा के प्रति कम नहीं हुई है और वे दोबारा पहुंच गए कंबल वाले बाबा के पास.

गृहमंत्री रामसेवक पैकरा फिर पहुंचे कंबलवाले बाबा के पास

स्वाइन फ्लू के तीन और मरीज मिले

मंगलवार को शहर के तीन अलग-अलग अस्पतालों में स्वाइन फ्लू के तीन संदिग्ध मरीजों को भर्ती किया गया है। वहीं तीन की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्वाइन फ्लू का कहर जिले में अब भी जारी है। अब तक भर्ती 19 मरीजों में से 11 स्वस्थ हो गए हैं। बाकी 5 मरीजों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। रिपोर्ट आने के बाद ही उनकी स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। स्वास्थ विभाग के मुताबिक, स्पर्श अस्पताल में जेवरा सिरसा निवासी एक युवक और अपोलो बीएसआर में एसएफ लाइन दुर्ग और हरि नगर दुर्ग निवासी मरीजों को भर्ती किया गया है। मरीजों के खून का सेंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए है। पिछले दिनों रायपुर में दुर्ग के युवक की मौत स्वाइन फ्लू से होने की

सुपेला अस्पताल में नर्सों को सौंपा दवाई बांटने का काम

सुपेला अस्पताल में नर्सों को सौंपा दवाई बांटने का काम

चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों की ओर से मरीजों को दवाइयां बांटने का मामला अब तूल पकड़ते जा रहा है। मामला सुपेला स्थित लाला बहादुर शास्त्री शासकीय अस्पताल का है। अस्पताल प्रबंधन अब तक यहां दवाइयां बांटने की बेहतर व्यवस्था तक नहीं बना पाया है। मंगलवार को दोपहर बाद दूसरी पाली और तीसरी पाली में मरीज दवाइयों के लिए भटकते रहे। यहां दवाई बांटने वाला कोई नहीं था। सभी फार्मासिस्ट पहले पाली में ड्यूटी कर औषधी केंद्र में ताला लगाकर चले गए। इसके बाद से किसी भी मरीज को यहां दवाइयां नहीं दी गई।

Related News