शपथ ग्रहण से पहले ही शुरू हुई किसानों के कर्ज माफी की कवायद

शपथ ग्रहण से पहले ही शुरू हुई किसानों के कर्ज माफी की कवायद

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के नतीजे मंगलवार को घोषित हुए। इस जनादेश में प्रदेश की जनता ने कांग्रेस की सरकार को चुना। प्रदेश में कांग्रेस 90 में से 68 सीट जीतकर बहुमत से सरकार बनाने जा रही है। इस दौरान प्रदेश में सत्ता रूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी 15 सीट पर ही सिमट गई। पार्टी की इस हार की नैतिक जिम्मेदारी प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे डॉ. रमन सिंह ने ली। उन्होंने बुधवार को अपने पद से त्याग पत्र राज्यपाल को सौंप दिया और अब वे नए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं। प्रदेश में कांग्रेस के बहुमत से सरकार बनाते ही प्रशासनिक अमला उनके घोषणा पत्र पर कार्रवाई करने मुसतैद हो गया। सहकारिता विभाग ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांंधी के घोषणानुरूप दस दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ करने की तैयारी शुरू कर दी है।
छत्तीसगढ़ शासन सहकारिता विभाग के उप सचिव पीएस सर्पराज ने अपने हस्ताक्षर से पत्र जारी कर संचालक संस्थागत वित्त, संयोजक राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी, भारतीय स्टेट बैंक क्षेत्रीय कार्यालय और प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक मर्यादित से किसानों की ऋण माफी योजना का क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए हैं।
उप सचिव ने पत्र में लिखा है कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने अपने जन घोषणा पत्र में सरकार बनने के दस दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा की है। इस घोषणा की पूर्ति के लिए ऋण माफी योजना तैयार किया जाना है। उन्होंने 30 नवम्बर तक की स्थिति में किसानों को वितरित कृषि ऋण अवशेष की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News