बीच सड़क वाहन से उतारकर 112 के कर्मी से मारपीट

जिले में असामाजिक तत्वों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं। पिछले दिनों दर्री थाना में पदस्थ एक आरक्षक की करील विक्रेता मां-बेटे ने भरे बाजार पिटाई कर दी थी। इस बार दर्री थाना क्षेत्र में डायल 112 के कर्मी से ना सिर्फ मारपीट की गई बल्कि फिल्मी स्टाइल में वाहन से आरोपी को उतार कर पीटा गया। वाहन 112 के चालक व आरक्षक का रास्ता रोककर दो युवकों पर मारपीट करते हुए शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने पर धारा 186 , 341 , 353 , 332 , 34 का मामला पंजीबद्ध किया गया है।
जानकारी के अनुसार पुलिस लाइन एच /58 में निवासरत आरक्षक आशीष महादेवा दर्री थाना में पदस्थ है। साथ ही वह डॉयल 112 में भी ड्यूटी करता है। मंगलवार की रात को कंट्रोल रूम से प्वाइंट मिलने के आधार पर आगारखार से मारपीट के एक आरोपी सुनील चौहान को 112 वाहन में लेकर दर्री थाना आ रहे थे। इसी दौरान आगारखार चौक के पास रामबाबू और बच्चा यादव नामक युवक ने उन्हें रोक लिया और गाड़ी से आरोपी सुनील को नीचे उतार लिया। साथ ही वाहन चालक नरेश साहू व आरक्षक आशीष के साथ मारपीट करने लगे। आरोपियों ने वाहन में भी तोडफ़ोड़ करने का प्रयास किया। आशीष ने तत्काल दर्री की पेट्रोलिंग पार्टी को घटना की सूचना दी। पेट्रोलिंग पार्टी जैसे ही मौके पर पहुंची, दोनों आरोपी मौके से भाग निकले। पुलिस ने मामले में अपराध दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी कार्रवाई प्रारंभ कर दी है ।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News