पूर्ण शराब बंदी के लिए अध्ययन की आवश्यकता नहीं : भाजपा

छत्तीसगढ़ भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष पूनम चंद्राकर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अपने चुनावी वादे से पीछे हट रही है। कांग्रेस ने जनघोषणा पत्र में सभी किसानों का सभी बैंकों का कर्ज माफ करने की बात की थी लेकिन केवल अल्पकालीन ऋण माफ करने की बात कहकर कांग्रेस किसानों के साथ धोखा कर रही है। उन्होंने कहा कि पूर्ण शराब बंदी की बात कांग्रेसियों ने की थी लेकिन अब अध्ययन दल की बात कर कांग्रेस पूर्ण शराबबंदी से भाग रही है।
चंद्राकर ने कहा कि बिना अध्ययन के जब कांग्रेस धान खरीदी का लक्ष्य 75 लाख मीट्रिक टन से बढ़ाकर 85 लाख मीट्रिक टन कर सकती है जबकि ऐसा करने के लिए राजस्व व कृषि विभाग की रिपोर्ट की आवश्यकता थी।
भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष ने कहा कि यदि प्रति एकड़ 15 क्विंटल से 20 क्विंटल या अधिक धान खरीदी का आदेश आता तो किसान को फायदा होता और हमें भी खुशी होती लेकिन बिना इस आदेश के 10 लाख मीट्रिक टन अधिक खरीदने का निर्णय समझ से परे है।
चंद्राकर ने कहा कि धान खरीदी की सीमा बिना अध्ययन के बढ़ा दी गई है। जबकि पूर्ण शराबबंदी के लिए कोई अध्ययन की आवश्यकता नहीं है। वहां पूर्ण शराबबंदी टालने के लिए अध्ययन दल की नौटंकी की जा रही है। जो प्रदेश की माताओं बहनों के साथ छलावा है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News