नतीजे नहीं सुधरे तो होगी कार्रवाई : कलेक्टर

तिमाही परीक्षा और मासिक टेस्ट नतीजों की स्कूलवार कलेक्टर ने 29 नवंबर को समीक्षा की। जिन स्कूलों के नतीजों में सुधार नहीं आये हैं उनके प्राचार्यों पर कार्रवाई की जा रही है। भविष्य में भी टेस्ट के नतीजों के आधार पर खराब परफारमेंस वाले प्राचार्यों पर कार्रवाई की जायेगी। कलेक्टर ने अच्छे नतीजे वाले स्कूल प्रबंधन की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से स्कूलों के नतीजों, साफ-सफाई का स्तर और अन्य बारीकियों पर लगातार नजर रखी जा रही है। अच्छा कार्य करने वाले प्राचार्य और शिक्षक सम्मानित होंगे। हलदी में हाई स्कूल में पसरी गंदगी पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि स्वच्छता सबसे अहम है। शौचालयों की साफ-सफाई सबसे अहम है। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी से हर दिन स्कूल की साफ-सफाई और शौचालयों की साफ-सफाई की फोटो मोबाइल ऐप के माध्यम से अपलोड कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूलों में साफ-सफाई की नियमित मॉनिटरिंग की जाएगी। जिन स्कूलों में साफ-सफाई की व्यवस्था खराब पाई गई तो संबंधित पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि सभी शिक्षा अधिकारी हाईटेक हो, टेक्नोलाजी के उपयोग से वाकिफ हों।
बीईओ की लेंगे बैठक, परफॉरमेंस के आधार पर होगी कार्रवाई
कलेक्टर ने कहा कि समीक्षा में यह सामने आया है कि कुछ बीईओ पर्याप्त मॉनिटरिंग नहीं कर रहे हैं। इस संबंध में एक बैठक ली जाएगी और सभी बीईओ के कार्यों की गुणात्मक समीक्षा की जाएगी। समीक्षा में असंतोषजनक पाए जाने पर संबंधित को हटाए जाने की कार्रवाई की जाएगी।
स्मार्ट क्लास में मन लग रहा बच्चों का-
जिले में हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी परीक्षा में खराब परफ ॉरमेंस करने वाले 100 स्कूलों में स्मार्ट क्लास की सुविधा शुरू की गई है। इसके अच्छे नतीजे सामने आ रहे हैं।
जिला पंचायत सीईओ चंदन कुमार ने कहा कि बहुत से शिक्षाविद और विषय के जानकार विद्यार्थियों को पढ़ाने की उत्सुकता दिखाते हैं। ऐसे लोगों को मौका दिया जाए। स्कूलों में शिक्षकों की पर्याप्त व्यवस्था हो इस लिहाज से कुछ शिक्षकों को अस्थाई रूप से दूसरे स्कूलों में भेजा जा रहा है। ऐसे मामलों में प्राचार्य शिक्षकों को भेजने में जरा भी विलंब ना करें।

Source: 
Vision News Service

Related News