किसानों को प्राथमिकता के साथ सहायता उपलब्ध कराएं : कलेक्टर

naraynpur 25 1 edit.jpg

जिले में सौर सुजला योजनांतर्गत किसानों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सोलर सिंचाई पंप स्थापित करने प्राथमिकता के साथ सहायता सुलभ कराया जाए। इसके लिए अंचल ईलाको के किसानों को प्राथमिकता दी जाए। अबूझमाड़ ईलाके के किसानों को लाभान्वित करने के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पहल किया जाए। इसके लिए कार्ययोजना तैयार कर कारगर कार्यान्वयन किया जाए। उक्त बातें शुक्रवार को कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने सौर सुजला योजना के क्रियान्वयन समिति की बैठक के दौरान कही।
उन्होंने बैठक के दौरान सौर सुजला योजनांतर्गत वर्ष 2016-17 के तहत् निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध सोलर सिंचाई पंप स्थापना तथा वर्ष 2017-18 के तहत् निर्धारित लक्ष्य के एवज में अभी तक स्थापित सोलर सिंचाई पंप स्थिति की विस्तृत समीक्षा की। और इसके लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।
कलेक्टर वर्मा ने बैठक के दौरान जिले में ग्रामीण विद्युतीकरण स्थिति की भी विस्तृत समीक्षा कर शत-प्रतिशत गांवों और बसाहटों का विद्युतीकरण 31 मार्च 2018 तक पूर्ण करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। इसके साथ ही सोलर संयंत्रों तथा उपकरणों के रख-रखाव और सोलर पंप स्थापना कार्य के लिए लाईवलीहुड कॉलेज से सोलर तकनीशियन का प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं से सलाह लेने का निर्देश दिया गया। जिले के अंदरूनी ईलाकों में सोलर आधारित नलजल योजना तथा पेयजल के लिए सोलर पंप स्थापना कार्यों की भी समीक्षा की गयी।
इस मौके पर सीईओ जिला पंचायत अशोक चौबे, उपसंचालक कृषि एनके नागेश, सहायक अभियंता छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कंपनी उर्वषा, सहायक अभियंता क्रेडा रविन्द्र भारद्वाज, सहायक अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एसके वर्मा, तहसीलदार रोहित सिंग के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News