Kanker

CG-19, Kanker

जर्जर स्कूल में पढ़ाई के लिए मजबूर, खतरे में है नौनिहालों की जिंदगी

wp-1505543526211..jpeg

जिलें के कई सरकारी स्कूलों के भवन खस्ताहाल हैं। इनमें सुविधाओं का अभाव है। दीवारों में दरारें और सीलन वाली छतों के बीच बच्चे बैठकर पढ़ाई करते हैं। गेड़गांव, सुरेवाही, ऐसेबेड़ा, बाड़ाटोला और कन्हारगांव जैसे इलाकों के कई ऐसे प्रायमरी और मिडिल स्कूल हैं जहां की छतों से पानी टपक रहा हैं। खस्ताहाल भवन में बच्चे डर कर पढ़ाई करते हैं कि कहीं कोई हादसा न हो जाए। शिक्षा विभाग को इस बात की कोई चिंता नहीं है। जिससे नौनीहालों की मजबूरी है कि वो ऐसी छत के नीचे पढ़ाई करने को मजबूर हैं।

बालिका बाल गृह से भागी 2 छात्राएं , सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

wp-1503745918380.-990x557.jpeg

शहर से महज 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बालिका बाल गृह से 2 नाबालिग छात्राये आज सुबह भाग निकली.. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस टीम भी मौके पर पहुची और तलाशी अभियान शुरू किया,लेकिन समाचार लिखे जाने तक दोनों बालिकाओ का कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है…
बालिका बाल गृह के स्टाफ के अनुसार दोनों छात्राएं आश्रम के पीछे की दीवार फांद कर सुबह करीब साढ़े 8 बजे भाग निकलीं,जिन्हें कुछ लोगो ने देखा था और इसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई ..बालिका बाल गृह से बालिकाओं के भागने का यह कोई पहला मामला नहीं है, इसके पहले भी 5 से 6 छात्राएं भाग चुकी हैं..

शिक्षक की शर्मनाक हरकत,छात्राओं से कराता था मसाज

wp-image-63243702-990x743.jpg

मास्टर साहब ने स्कूल को बना दिया था मसाज पार्लर. सुनने में आपको अजीब लग रहा होगा,लेकिन ये बिल्कुल सच है. कांकेर जिले के कोयलीबेडा विकासखंड के ग्राम पी.व्ही 12 (सुभाष नगर) के शासकीय प्राथमिक शाला का ये मामला है. जहाँ स्कूल के हैड मास्टर सुपद दास की हरकतें सुनकर आप आश्चर्यचकित हो जायेंगे.
आरोप है कि ये महाशय स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों से अपना पका हुआ बाल उखाड़ने का कहते थे. साथ ही अपना बाल खिंचवाते थे,सिर की मालिश कराते थे. इतना ही नहीं ये छात्र-छात्राओं से हाथ-पैर दबाने को कहते थे और अश्लील हरकत करने का भी आरोप इन पर लगा है.

महिला पुरुषों से कम नहीं : कमांडेंट निहारिका

niharika.jpg

महिलाएं पुरुषों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं, गरियाबंद की बेटी प्रियदर्शिनी निहारिका सिन्हा ने इसे प्रमाणित किया है। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) में कमांडेंट निहारिका छत्तीसगढ़ की पहली महिला अफसर हैं, जो रावघाट रेललाइन मार्ग की सुरक्षा के लिए अंतागढ़ व रावघाट में तैनात हैं, जहां हर समय नक्सली हमले का खतरा बना रहता है। सैकड़ों पुरुष जवानों के बीच अकेली महिला अफसर हैं, जो उनका नेतृत्व भी कर रही हैं।
00 कौन हैं कमांडेंट निहारिका :

100 मजदूरों का 44 हजार भुगतान लंबित

विकासखंड दुर्गूकोंदल अंतर्गत ग्राम सिहारी से कोदापाखा और बोकराटोला मार्ग पर सड़क निर्माण गिट्टीकरण, पुलिया निर्माण और डामरीकरण कार्य में लगे मजदूरों को मजदूरी भुगतान नहीं किया जा रहा है। ग्रामीण मजदूर गोविंदराम कोमरा, गिरधारीलाल, अनुज, मेहरसिंह ने बताया सिहारी से कोदापाखा मार्ग पर मजदूरों द्वारा सड़क, पुलिया निर्माण कार्य ठेकेदार 150 रुपए की दर से करवाया गया। लगभग 100 मजदूरों का 44 हजार रुपए का मजदूरी भुगतान लंबित है। मजदूरी नहीं मिलने से ग्रामीण परेशान हैं। ग्रामीणों ने शीघ्र मजदूरी भुगतान दिलाने की मांग की है।

पानी की समस्या पर बिफरे महापौर

vns28-07-17-02.jpg

नगर निगम के महापौर को शुक्रवार को सड्डू में पानी की समस्या की शिकायत मिलने पर वे अधिकारियों पर बिफर पड़े। उन्होंने कहा कि, जोन 2 कार्यपालन अभियंता तत्काल कॉलोनी की सारी समस्यों का त्वरित निराकरण करें । उन्होंने शुक्रवार को नगर निगम जोन 2 के तहत आने वाले केन्द्र प्रवर्तित बीएसयूपी आवासीय परिसर पहुंचकर परिसर का प्रत्यक्ष अवलोकन किया। इस दौरान महापौर को कॉलोनी में बहुत सी कमियां नजर आई जैसे- पानी, बिजली, खिड़की दरवाजे आदि। इस दौरान उनके साथ जोन 2 कार्यपालन अभियंता विनोद देवांगन, जोन स्वास्थ्य अधिकारी वरुण बंजारे सहित संबंधित जोन अधिकारी उपस्थिति थे।

विभागीय अधिकारी स्थानांतरण नीति के अनुरूप कार्यवाई करें : कलेक्टर

कलेक्टर ने मुख्य वनसंरक्षक, कांकेर वृत्त, अधीक्षण अभियंता, लोक निर्माण तथा सभी जिला स्तरीय विभागीय अधिकारियों को पत्र जारी कर राज्य शासन की स्थानांतरण नीति के अनुसार कर्मचारियों के स्थानांतरण की कार्यवाई सुनिश्चित करने कहा है।
जारी पत्र में कलेक्टर ने कहा है कि, छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग, मंत्रालय महानदी भवन नया रायपुर के पत्र क्रमांक एफ-01/2017/एक/6 नया रायपुर 11 जुलाई के अनुसार स्थानांतरण नीति वर्ष जारी की गई है। शासन द्वारा जारी स्थानांतरण नीति वर्ष में सभी स्थानांतरण शासन स्तर से प्रशासकीय विभाग द्वारा मंत्री के अनुमोदन से किये जायेंगे।

40 साल इंतजार के बाद ग्रामीण खुद जुटे और बना डाला कुटनी नदी पर 100 फुट लम्बा पुल

kutni_river_2017721_92539_21_07_2017.jpg

जिला मुख्यालय से 135 किमी दूर बांदे के छोटे बेठिया-अछिनपुर मार्ग की कुटनी नदी पर पुल बनाने की मांग करते ग्रामीण को 40 साल हो गए। जनसमस्या निवारण शिविर, लोक सुराज, जनदर्शन, सांसद, विधायक सभी जगह आवेदन दिया, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। आखिर ग्रामीणों ने ठाना कि अब प्रशासन के भरोसे नहीं रहेंगे और 100 फुट से अधिक लंबा पुल बनाने खुद जुट गए। पखांजूर ब्लॉक का बांदे थाना नक्सली इलाका होने की वजह से अतिसंवेदनशील है।
00 रोज 300 से 400 लोग करते हैं आना-जाना

कांकेर में मिला टिफ़िन बम

vns21-07-17-05.jpg

छत्तीसगढ़ के कांकेर में टिफिन बम मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। टिफिन बम की खबर से क्षेत्र में वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। बताया जा रहा है बरामद टिफिन बम 3 किलो वजनी है।
कांकेर एएसपी जयप्रकाश बढई ने बताया कि, अंतागढ़-आमाबेड़ा मार्ग पर एक 3 किलो का टिफिन बम पुलिस ने बरामद किया है। बम को डिफ्यूज करने की कार्रवाई की जा रही है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने मार्ग पर वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। बम डिफ्यूज करने के बाद मार्ग पर यातायात सामान्य किया जाएगा।

किसानों के कल्याण की बेहतर योजनाएँ लागू करने वाला छत्तीसगढ़ अव्वल राज्य

Agriclture chhattisgarh

मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य किसानों के लिए कल्याणकारी योजनाएँ लागू करने वाला देश का अग्रणी राज्य है। उन्होंने कहा कि राज्य के किसानों को खेती के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण योजना प्रारंभ करने वाला देश का प्रथम राज्य है। उन्होंने कहा कि राज्य में किसानों की भलाई के लिए सभी प्रकार की योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है।