विधानसभा चुनाव

गरीबी इतनी कि चुनाव लड़ने समर्थकों से इकठ्ठा किया चंदा, फिर सिक्कों से भरे थैली लेकर नामांकन फार्म खरीदने पहुंचा ये प्रत्याशी

गरीबी इतनी कि चुनाव लड़ने समर्थकों से इकठ्ठा किया चंदा, फिर सिक्कों से भरे थैली लेकर नामांकन फार्म खरीदने पहुंचा ये प्रत्याशी

विधानसभा चुनाव के पहले चरण के 18 सीटों पर चुनाव कराने के लिए अधिसूचना जारी होते ही बस्तर में नामांकन फॉर्म लेने का सिलसिला जारी है. एक के बाद एक प्रत्याशी नामांकन फार्म खरीद रहे है. इसी बीच एक अनोखा नजारा देखने को मिला. अाप सोच रहे होंगे कि इसमें क्या अनोखा नजारा दिख गया. दरअसल समाजवादी पार्टी की तरफ से एक गरीब प्रत्याशी ने नामांकन फार्म खरीदने के लिए सिक्कों से भरा थैला लेकर पहुंचा. सिक्कों से भरा थैला देखकर निर्वाचन अधिकारी भी हैरान हो गए.

सिक्के गिनने में अधिकारियों के छूटे पसीने

आफत बनकर आया विधानसभा चुनाव, जानिए कितने गुंडों को किया पुलिस ने जिलाबदर

आफत बनकर आया विधानसभा चुनाव, जानिए कितने गुंडों को किया पुलिस ने जिलाबदर

शहर के गुंडे, बदमाशों के लिए विधानसभा चुनाव आफत बनकर आ गया है. आचार संहिता लागू होने के दौरान रायपुर पुलिस के पास जिलाबदर के 66 प्रकरण आए हैं, 3 मामलों में पुलिस ने जिलाबदर की कार्रवाई की है. वहीं गुंडा सूची, हिस्ट्रीशीटर और वारंटियों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है.

103 हिस्ट्रीशीटरों के खिलाफ कार्रवाई

आज 30 नारों का किया गया विलोपन

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी के मार्गदर्शन में जिले में संपत्ति विरूपण अधिनियम के अंतर्गत शासकीय भवनों और सार्वजनिक परिसंपत्तियों से होर्डिंग्स, पोस्टर, बैनर और बोर्ड हटाए जाने के साथ ही चुनावी लाभ के लिए लिखवाए गए नारों को मिटाने का सिलसिला अनवरत रूप से जारी हैं। इस अधिनियम के तहत आज 15 अक्टूबर को जिले में 30 दिवाल लेखन को मिटवाया गया। इसके अंतर्गत आज डोंगरगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 11, राजनांदगांव विधानसभा क्षेत्र में 2, खुज्जी विधानसभा क्षेत्र में 1, मोहला-मानपुर विधानसभा क्षेत्र में 2 दिवाल लेखन को मिटवाने की कार्रवाई की गई है। संपत्ति विरूपण अधिनियम का पालन सुनिश्चित कराने के लिए गठित

इस बार चुनाव चिन्ह के साथ दिखेगी प्रत्याशी की फोटो भी

कल से नाम निर्देशन पत्र की प्राप्ति शुरू होगी। इसके लिए आवश्यक तैयारियां जिला प्रशासन की ओर से कर ली गई हैं। इस संबंध में निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन से राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को जिला निर्वाचन अधिकारी भीम सिंह ने अवगत कराया। सिंह ने नाम निर्देशन पत्र के भरने में रखी जाने वाली सभी सावधानियों के संबंध में और इस संबंध में जरूरी औपचारिकताओं के संबंध में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि इस बार वोट डालने के दौरान मतदाता प्रत्याशी के नाम के साथ उसकी फोटो भी देख सकेंगे। कलेक्टर ने बताया कि एक ही जैसे नाम वाले प्रत्याशियों के निर्वाचन में खड़े होने से पहचान करने में दिक्कत होती थी, अब ऐसी दिक्कत फोटो

विधानसभा चुनाव : कन्ट्रोल रूम एवं टोल फ्री नंबर स्थापित

विधानसभा निर्वाचन 2018 का कार्य सुचारू रूप से संचालित करने के लिए कन्ट्रोल रूम एवं टोल फ्री नंबर स्थापित किया गया है। भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली का टोल फ्री नंबर 1800-111-950 है। इसी प्रकार मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ रायपुर का टोल फ्री नंबर 1950 और कन्ट्रोल रूम का दूरभाष नंबर 0774-913677 है। मुख्य आयकर आयुक्त रायपुर का टोल फ्री नंबर 1800-233-7010 है। जिला निर्वाचन अधिकारी बिलासपुर के कन्ट्रोल रूम का दूरभाष नंबर 07752-222877 है।

धमतरी जिले में इस बार 35853 महिला मतदाताओं की संख्या बढ़ी

पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले इन पांच सालों के दरमियान धमतरी जिले की तीनों सीट पर 35853 महिला मतदाताओं की संख्या बढ़ी हैं। धमतरी विधानसभा में सर्वाधिक 13812, इसके बाद कुरूद विधानसभा में 12179 तथा सिहावा विधानसभा क्षेत्र में 5 वर्ष में 9862 महिला मतदाताओं की संख्या में वृद्धि हुई है।

बस्तर की 12 सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों के नाम लगभग तय

छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव के सबसे पहले चरण में बस्तर की 12 सीटों का मतदान होगा। सबसे पहले मतदान होने से प्रत्याशियों की घोषणा भी सबसे पहले होगी। इस लिहाज से कांग्रेस की अनौपचारिक लिस्ट जिसकी घोषणा कांगे्रस की ओर से नहीं की गई है, नाम सामने आने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी लगभग तय माने जा रहे हैं। कांग्रेस की लिस्ट में दो नामों की लिस्ट भी शामिल है, जिसमें से किसी एक को टिकट मिलना तय माना जा रहा है।

व्यापारियों को परेशान नहीं किया जाएगा : आयोग

व्यापारियों को परेशान नहीं किया जाएगा : आयोग

कांफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोषी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानन्द जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि राज्य विधानसभा चुनाव के तहत कैश लाने-ले जाने से संबंधित नियम और व्यापारी संगठन से चर्चा के लिए शुक्रवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने कैट के प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया।

बगैर अनुमति बैनर-पोस्टर चिपकाने पर होगी कार्रवाई : कलेक्टर

विधानसभा चुनाव के तहत राजनैतिक दलों और उनके अभ्यर्थियों की ओर से चुनाव प्रचार के लिए शासकीय/अशासकीय भवनों पर नारे लिखे जाते हैं। विद्युत, टेलीफोन के खम्भों पर चुनाव प्रचार से संबंधित झंडियां लगाई जाती हैं। इसके कारण शासकीय/अशासकीय संपत्ति का स्वरूप विकृत हो जाता है। जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.सीआर प्रसन्ना ने बताया कि सम्पत्ति विरूपण निवारण अधिनियम 1994 की धारा-3 में उल्लेखित है कि कोई भी सम्पत्ति के स्वामी की लिखित अनुज्ञा के बिना सार्वजनिक दृष्टि में आने वाली किसी सम्पत्ति से स्याही, खडिय़ा, रंग या किसी अन्य पदार्थों से लिखकर या चिन्हित करेगा उसे 1000 रुपए तक जुर्माने के रूप में दंडित किया जाएग

प्रत्याशी चयन के आधार पर होगी इस बार जीत-हार.

विधानसभा चुनाव में इस बार खासकर जांजगीर-चांपा सीट काफी दिलचस्प नजर आ रही है। जनता का जिस तरह रुझान आ रहा है, उसके मुताबिक हार-जीत का फैसला राजनीतिक पार्टी के बजाय इस बार प्रत्याशी चयन पर आधारित होगा। जनता इस बार बदलाव के मूड में नजर आ रही है। ऐसे में राजनीतिक दलों के आगे धर्मसंकट की स्थिति पैदा हो सकती है। अब देखना यह है कि दोनों प्रमुख दलों की ओर से किस तरह जनता के मुताबिक उम्मीदवार का चयन किया जाता है।