भारत निर्वाचन आयोग

अभियुक्त या अपराधी होने पर प्रत्याशी को देनी होगी जानकारी

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए नए निर्देश के अनुसार विधानसभा चुनाव में सभी प्रत्याशियों को नाम निर्देशन पत्र भरते समय शपथ पत्र के साथ अपने अापराधिक प्रकरणों के संबंध में सूचना देनी होगी। उसे यह सूचना समाचार पत्रों, टीवी चैनलों और पार्टी की वेबसाइट पर देनी होगी। राजनैतिक पार्टी की भी यह बाध्यता रहेगी कि वह पार्टी की ओर से चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी के अनिर्णित आपराधिक प्रकरणों के संबंध में पार्टी की वेबसाईट पर इसे प्रदर्शित करे।

राजनीतिक दलों को प्रचार के लिए दूरदर्शन-आकाशवाणी पर मिलेगा नि:शुल्क समय

भारत निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रीय और मान्यता प्राप्त प्रादेशिक राजनीतिक दलों को प्रचार के लिए दूरदर्शन और आकाशवाणी पर नि:शुल्क प्रसारण समय उपलब्ध कराने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जनप्रतिनिधित्व अधिनियम-1951 के संशोधित प्रावधानों के अनुसार सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को केन्द्र सरकार के इलेक्ट्रॉनिक प्रसारण माध्यमों (दूरदर्शन एवं आकाशवाणी) पर प्रचार के लिए समान समय उपलब्ध कराए जाने का प्रावधान है। इस अधिनियम के तहत छत्तीसगढ़ में भी आगामी विधानसभा निर्वाचन के दौरान राष्ट्रीय और मान्यता प्राप्त प्रादेशिक दलों को सार्वजनिक (शासकीय) क्षेत्र के प्रसारणकर्ता प्रसार भारती निगम द्वारा प्रचार

नामांकन के पूर्व नया खाता खोलना जरूरी : कलेक्टर

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़ विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक उम्मीदवारों को यह कहा गया है कि सभी प्रकार के निर्वाचन व्यय के लिए एक नया बैंक खाता अनिवार्य रूप से खोलें। मौजूदा या पूर्व के बैंक खातों के जरिए निर्वाचन व्यय की अनुमति नहीं दी जाएगी। नामांकन दाखिले के कम से कम एक दिन पूर्व यह नया खाता खोलना जरूरी है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि संबंधित निर्वाचन क्षेत्र में 50 हजार रुपए से अधिक की नगद राशि लेकर चलने की अनुमति नहीं होगी। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने राज्य स्तरीय बैंकर्स की बैठक में उम्मीदवारों के नए खाते खोले जाने के निर्देश दिए हैं।